शनिवार, 3 नवंबर 2012

फेसबुक पर पहचान छुपाकर महिला मित्र दुश्मन तो हो सकती है मित्र नहीं...?

हाल ही में 22 साल का संदीप खरात ( बदला हुआ नाम ) फेसबुक पर एक लड़की के मकडजाल का शिकार हो गया उक्त समाचार हमारे फेसबुक मित्र राज कमल जी से प्राप्त हुआ बहुत वेदना हुई रुबीना नमक लड़की ने अपने जाल में फसा होटल में मिलने के बहाने अपने सहयोगी लडको को बुलाकर लूट  लिया जिसकी सूचना संदीप ने लखनऊ के देवनार इलाके में पुलिस को दी है।
                  ये कोई पहला हादसा नहीं इससे पहले भी ऐसे कई हादसे हो चुके है , हो रहे है और होते रहेगे, जब तक कि फेसबुक चलाने वाले स्यम सजग न होगे, ऐसी लडकियों की आई डी में सिर्फ लडको की भरमार रहती है, वो दोस्ती करने के बाद अपना मोबाईल नंबर भी आसानी से दे देती है ये एक बहुत बड़ा रेकेड है जिसे युवा वर्ग समझ नहीं पा रहा है, ये दोस्ती के नाम पर जान की दुश्मन भी हो सकती है, इनके नंबर और आई डी भी अमुक समय माँ बदल जाते है, इनके मकडजाल से बचने का एक ही इलाज है, जिनकी पहचान सही नहीं है , फोटो नहीं लगा है, उनको अपनी आई डी से तुरंत हटा दे।वर्ना आप किसी भी बड़ी मुसीबत में फस सकते है ये कोल गर्ल भी हो सकती है , आतंकवादियों की चाल भी हो सकती है, अपनी पहचान छुपाकर दोती करने वालो से सावधान रहे ये किसी के दुश्मन तो हो सकते है दोस्त नहीं......? 
                                  http:/www.samaysapeksh.com

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

समर्थक