गुरुवार, 8 दिसंबर 2011

                       प्रदेश में सडको पर जाम एक विकराल समस्या...?
उत्तर प्रदेश की सडको पर आप चाहे जिधर भी निकल जाइए आप समय से अपने गतव्य को पहुच जाये ये ही काफी है! प्रदेश में विकास के नाम पर करोड़ो रूपये पानी की सी तरह बहाया जा रहा किन्तु जाम की विकराल समस्या पर किसी ने गौर नहीं किया यही वजह है कि आज स्थति बद से बत्तर हो गयी है!
आज पूरे यू.पी. में आवश्कता सडको पर जाम की स्थति से निपटने के लिए जगह-जगह ओवर ब्रिज का होना बहुत अनिवार्य है जिससे आम जनमानस को राहत मिल सके और समय से अपने गतव्य को जा सके टूटी सडको का काया कल्प  हो साथ ही हर व्यस्तम एरिया में ट्रेफिक पुलिस की व्यवस्था हो विकास के नाम पर जनता का पैसा इन नेताओ अधिकारियो की जेब भरने के लिए या इनके सरकार की नजरो से बचकर अपने दो नम्बर के व्यवसाय, इनके रिश्तेदारों के नाम पर चल रही फेक्ट्रिया आलीशन कोठी, बगला, गाड़ी आदि पर लुटाने को नहीं है!
प्रदेश में बड़ते ट्रेफिक से अब जनता अजीज आ चुकी है हर कोई जाम की समस्या को लेकर खिन्न नजर आता है! आख़िरकार जनता प्रदेश की मुखिया से ये जानना चाहती है कि विकाश के नाम पर स्वीकृत  हो रहा करोड़ो रुपया जा कहा रहा है! बनी हुई सडको को खोद कर दुबारा बनाया क्यों नही जाता जाम से निजात दिलाने में क्या प्रदेश कि मुखिया या सम्बन्धित अधिकारी कोई गम्भीर कदम उठाने का प्रयास करने कि जहमत उठायेगे या इतना सब जाम के झाम का तमासा तमाशबीन बन कर तमासा देखते रहेगे !
              _                                                                               नरेन्द्र एम.चतुर्वेदी  
                                                                                                      देखे -www.samaysapeksh.com      

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

समर्थक

ब्लॉग आर्काइव