मंगलवार, 22 दिसंबर 2009

आज का दिन हादसों के नाम तीन राजों में तीन हादसे, 16 की मौत

करीमनगर/मोतीहारी/ बिलासपुर। आंध्रप्रदेश, बिहार और हिमाचलप्रदेश में हुई तीन अलग-अलग दुर्घटनाओं में 16 लोगों की मौत हो गई, जबकि 58 अन्य घायल हो गए। दोनों हादसों में जहाँ बस खाई में गिर गई, वहीं अन्य घटना में इंजन से जीप टकरा गई। आंध्रप्रदेश के करीमनगर जिले के बसंतनगर गाँव के पास आज तड़के एक बस के घाटी में गिरने से उसमें सवार छह लोगों की मौत हो गई। दुर्घटना में 14 लोग घायल हो गए।पुलिस ने बताया कि हैदराबाद से गोदावरीखानी जा रही आंध्रप्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (एपीएसआरटीसी) की बस सँकरे पुल से गुजरते समय घाटी में गिर गई। मृतकों में बस चालक भी शामिल है। घायलों को गोदावरीखानी के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मोतीहारी में इंजन-जीप में भिड़ंत, पाँच मरे : पूर्वी चंपारण जिले के सीतलपुर में एक मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर जीप और एक लाइट इंजन की टक्कर में आज पाँच लोगों की मौत हो गई, जबकि दो अन्य गंभीर घायल हो गए।पुलिस ने बताया कि यह वारदात पूर्व-मध्य रेल के सुगौली-रक्सौल रेलखंड पर नकरदेई के निकट सीतलपुर में तकरीबन सुबह साढ़े सात बजे हुई, जब इंजन ने घने कोहरे के बीच रेलवे क्रॉसिंग पार कर रही जीप में टक्कर मार दी।इंजन का ड्राइवर भागने में कामयाब रहा। वारदात से गुस्साए स्थानीय लोगों ने रेल यातायात बाधित कर दिया और दुर्घटना के शिकार हुए लोगों के परिजनों को उचित मुआवजा दिए जाने की माँग की। घायलों को नजदीक के एक अस्पताल में दाखिल कराया गया है। सभी गंभीर हैं। बिलासपुर में बस खड्ड में गिरी, पाँच मृत : हिमाचलप्रदेश के बिलासपुर जिले में आज तड़के एक पर्यटक बस के सौ फुट गहरे खड्ड में गिर जाने से उसमें सवार पाँच लोगों की मौत हो गई और 42 अन्य घायल हो गए।पुलिस अधीक्षक कुलदीप शर्मा ने बताया कि पर्यटक बस कुल 47 यात्रियों को लेकर से मनाली जा रही थी। जिला मुख्यालय से करीब 65 किमी दूर गढ़ मोड़ के निकट तड़के चार बजे यह दुर्घटना घटी। बताते हैं हादसा बस के ब्रेक फेल हो जाने के कारण हुआ।गंभीर घायल दो लोगों को पीजीआई चंडीगढ़ भेजा गया है और शेष यात्रियों को पंजाब के रोपड़ जिले के निकट आनंदपुर साहिब स्थित सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्वारघाट थाने के थानाध्यक्ष रतन चंद ने दुर्घटनास्थल से बताया कि बस में सवार पर्यटक गुजरात, राजस्थान और हरियाणा के निवासी थे। (भाषा)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

समर्थक

ब्लॉग आर्काइव