मंगलवार, 29 दिसंबर 2009

31 की रात चाँद को निहारना न भूलें


नई दिल्ली , मंगलवार, 29 । दिसंबर खगोलीय घटनाओं के दीदार के शौकीन लोगों के लिए 31 दिसम्बर की रात बेहद खास होगी। उस रात चाँद ज्यादा बड़ा और हल्का नीला नजर आएगा।आमतौर पर एक साल में 12 बार पूर्ण चंद्रमा के दर्शन होते हैं, लेकिन हर दो या तीन साल के अंतराल पर चाँद का आकार कुछ बढ़ा हुआ और उसका रंग कुछ नीला नजर आता है। इसे नीला चाँद कहा जाता है।साइंस पॉपुलराइजेशन एसोसिएशन ऑफ कम्युनिकेटर्स एंड एजूकेटर्स (स्पेस) के अध्यक्ष सीबी देवगन ने कहा-पिछली दो दिसंबर को हम पूरा चाँद पहले ही देख चुके हैं। हम चाँद का यह बढ़ा हुआ रूप नववर्ष की पूर्व संध्या यानी 31 दिसम्बर को देखेंगे।बहुत कम मौकों पर ही चाँद हल्का नीला नजर आता है। ऐसा अक्सर बड़े पैमाने पर आग लगने से उठे धुएँ या वातावरण में धूलकणों की मात्रा ज्यादा होने के कारण होता है।नीले चाँद की अवधारणा को स्पष्ट करते हुए देवगन ने बताया कि चाँद को एक चक्र पूरा करने में 29.53 दिन लगते हैं, जो करीब एक महीने के बराबर है। यही वजह है कि महीने में एक बार पूरा चाँद दिखाई पड़ता है। (भाषा)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

समर्थक

ब्लॉग आर्काइव