बुधवार, 9 दिसंबर 2009

हमें लोगों की उम्मीद पर और ज्यादा खरा उतरना होगा-सोनिया गाँधी

जन्मदिन मुबारक !!
नई दिल्ली, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी हरियाणा विधानसभा के हाल के चुनावों को समय पर मिले इस सबक के रूप में देखती हैं कि उसे न तो आत्मसंतुष्ट होना चाहिए और न ही जनादेश को स्थायी मानकर चलना चाहिए।सोनिया ने कांग्रेस के मुखपत्र कांग्रेस संदेश के ताजा अंक में कांग्रेसजन के नाम अपने पत्र में कहा है कि हरियाणा के मतदाताओं का फैसला हालाँकि हमारे पक्ष में रहा, लेकिन उसने हमें याद दिला दिया है कि हमें आत्मसंतुष्ट नहीं होना चाहिए और न ही लोगों के जनादेश को स्थायी मानकर चलना चाहिए।हरियाणा की 90 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस केवल 40 सीटें जीत पाई और वह सरकार बनाने के लिए आवश्यक आँकड़े से छह सीट कम रह गई। बाद में निर्दलीय सदस्यों के पार्टी में शामिल होने के बाद वह बहुमत का आँकड़ा जुटा सकी।सोनिया ने हालाँकि कहा कि महाराष्ट्र की जीत धर्म निरपेक्षता की जीत है। इससे एक बार फिर पता चलता है कि जनता ने क्षेत्रीय या धार्मिक संबंधों पर आधारित विभाजन के एजेंडे को अस्वीकार कर दिया और विकास के एजेंडे को मंजूरी दी है।उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के चुनाव परिणामों की चर्चा करते हुए कहा कि अरुणाचल की विजय खास तौर पर इसलिए लाभप्रद रही क्योंकि इसने दिखा दिया है कि कुछ लोगों की भावना के विपरीत अरुणाचल हमारी मुख्य धारा में बना हुआ है।सोनिया ने कांग्रेसियों से कहा कि हालाँकि हम इन विजयों से संतुष्ट हो सकते हैं, लेकिन इन्होंने हमारे वादों को पूरा करने की जिम्मेदारी एक बार फिर बढ़ा दी है। हमें लोगों की उम्मीद पर और ज्यादा खरा उतरने के लिए लगातार काम करना होगा और विकास के अधूरे कामों को पूरा करना होगा। (भाषा)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

समर्थक

ब्लॉग आर्काइव